उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ योजना 2022

Share your love

उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करें और उत्तर प्रदेश महिला समर्थ योजना एप्लीकेशन फॉर्म वो पंजीकरण प्रक्रिया फार्म भरने के स्थिति देखें। औरतों के सुरक्षा एवं सशक्तिकरण के लिए सरकार द्वारा अलग-अलग तरह की योजनाएं बनाई जाती है।

उत्तर प्रदेश सरकार भी इस प्रकार की योजनाओं को संचालित करती हैं। आज हम आपको ऐसी ही इस योजना से जुड़ी जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जिसका नाम है उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना है। इस योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश की औरतों को रोजगार के प्रति उत्साहित तथा उनके जीवन स्तर को बेहतर बनाने का कोशिश किया जाता है।

इस लेख को पढ़कर आपको इस योजना से जुड़ी सभी जानकारी मिलेगी, जैसी कि उत्तर प्रदेश महिला समर्थ योजना क्या है?, उसके लाभ, उद्देश्य, पात्रता, विशेषताएं, जरूरी जानकारी, आवेदन प्रक्रिया आदि। यदि आप उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ योजना से जुड़ी सभी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप से निवेदन है कि आप हमारे लिए को अंत तक पढ़े।

उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना

स योजना के माध्यम से प्रदेश की महिलाओं को रोजगार के प्रति उत्सुक किया जाएगा तथा स्थानीय संसाधनों के आधार पर होम एंड कॉटेज उद्योगों के माध्यम से उनके जीवन स्तर में सुधार लाने का कोशिश किया जाएगा। इस योजना के तहत औरतों को अपनी उपज को भेजने के लिए सरकार द्वारा बाजार भी उपलब्ध करवाया जाएगा।

उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना सरकार ने यूपी बजट 2021- 2022 की घोषणा करते हुए 22 फरवरी को शुरू किया है। वित्तीय वर्ष 2001 में 2022 में महिला सामर्थय योजना के नाम से नई योजना शुरू की जाएगी इस योजना के लिए सरकार द्वारा 200 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।

योजना के तहत ₹720000000 करोड़ से अधिक बुडगेट का किया गया प्रावधान

सभी लोग जानते हैं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 26 मई 2022 को अपने दूसरे कार्यकाल का पहला बुडगेट पेश किया गया है। बुडगेठ की घोषणा के दौरान finance minister द्वारा लोगों के लिए अअलग-अलग तरह की योजनाओं की घोषणा की गई है।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के सभी जनपद स्तर पर Cybet helpdesk स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा सरकार द्वारा कई योजनाओं के बुडगेट में बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया गया है।

सरकार द्वारा प्रधानमंत्री महिला समर्थ योजना के तहत 72 करोड़ 50 लाख रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित की गई है। इस योजना को औरतों के जीवना स्तर को सुधारने के उद्देश्य से शुरू किया गया है।यूपी. महिला सामर्थ योजना के माध्यम से प्रदेश की औरतों को रोजगार प्राप्त करने के लिए मोटिवेट किया जाएगा। इसके अलावा होम एंड कॉटेग उद्योग के माध्यम से उनके जीवन स्तर को सुधारने का कोशिश किया जाएगा।

सभी लोग जानते हैं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 26 मई 2022 को अपने दूसरे कार्यकाल का पहला बुडगेट पेश किया गया है। बुडगेठ की घोषणा के दौरान finance minister द्वारा लोगों के लिए अअलग-अलग तरह की योजनाओं की घोषणा की गई है।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के सभी जनपद स्तर पर Cybet helpdesk स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा सरकार द्वारा कई योजनाओं के बुडगेट में बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया गया है।

सरकार द्वारा प्रधानमंत्री महिला समर्थ योजना के तहत 72 करोड़ 50 लाख रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित की गई है। इस योजना को औरतों के जीवना स्तर को सुधारने के उद्देश्य से शुरू किया गया है।यूपी. महिला सामर्थ योजना के माध्यम से प्रदेश की औरतों को रोजगार प्राप्त करने के लिए मोटिवेट किया जाएगा। इसके अलावा होम एंड कॉटेग उद्योग के माध्यम से उनके जीवन स्तर को सुधारने का कोशिश किया जाएगा।

सभी लोग जानते हैं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 26 मई 2022 को अपने दूसरे कार्यकाल का पहला बुडगेट पेश किया गया है। बुडगेठ की घोषणा के दौरान finance minister द्वारा लोगों के लिए अअलग-अलग तरह की योजनाओं की घोषणा की गई है।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के सभी जनपद स्तर पर Cybet helpdesk स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा सरकार द्वारा कई योजनाओं के बुडगेट में बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया गया है।

सभी लोग जानते हैं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 26 मई 2022 को अपने दूसरे कार्यकाल का पहला बुडगेट पेश किया गया है। बुडगेठ की घोषणा के दौरान finance minister द्वारा लोगों के लिए अअलग-अलग तरह की योजनाओं की घोषणा की गई है।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के सभी जनपद स्तर पर Cyber helpdesk स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा सरकार द्वारा कई योजनाओं के बुडगेट में बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया गया है।

सभी लोग जानते हैं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 26 मई 2022 को अपने दूसरे कार्यकाल का पहला बुडगेट पेश किया गया है। बुडगेठ की घोषणा के दौरान finance minister द्वारा लोगों के लिए अअलग-अलग तरह की योजनाओं की घोषणा की गई है।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के सभी जनपद स्तर पर Cyber helpdesk स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा सरकार द्वारा कई योजनाओं के बुडगेट में बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया गया है।

सरकार द्वारा प्रधानमंत्री महिला समर्थ योजना के तहत 72 करोड़ 50 लाख रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित की गई है। इस योजना को औरतों के जीवना स्तर को सुधारने के उद्देश्य से शुरू किया गया है।यूपी. महिला सामर्थ योजना के माध्यम से प्रदेश की औरतों को रोजगार प्राप्त करने के लिए मोटिवेट किया जाएगा। इसके अलावा होम एंड कॉटेग उद्योग के माध्यम से उनके जीवन स्तर को सुधारने का कोशिश किया जाएगा।

यूपी महिला सामर्थ योजना की आवश्यकता

प्रदेश में लगभग 90 लाख छोटे और मध्यम उद्योग हैं। इनमें से 80 लाख से अधिक छोटी इकाइयों में स्थापित हैं। जो कि घर एवं काटेन उद्योगो के जरिए संचालित किए जाते हैं। इन उद्योगो में औरतों द्वारा संचालित किए जाने वाले उद्योगों की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है।

इसीलिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना को शुरू किया गया है। जिससे कि औरतों द्वारा संचालित किए जाने वाले उद्दमो का उत्थान किया जा सके। सरकार द्वारा अलग-अलग तरह की सुविधाएं प्रदान करके उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना का कार्यान्वयन किया जाएगा।

इन सुविधाओं को प्रदान करने के लिए सुविधा केंद्र खोले जाएंगे। इन सुविधा केन्द्रो पर पैकेजिंग लिबलिंग बारकोडिंग जैसी आदि सुविधाएं प्रदान की जाएगी।
की हाइलाइट्स आफ उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना–

योजना का नाम – उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना
किस ने लांच की- प्रदेश सरकार
लाभ लेने वाले- उत्तर प्रदेश के लोग
उद्देश्य क्या है- प्रदेश की महिलाओं को रोजगार के लिए उत्सुक करना
आधिकारिक वेबसाइट- Pmuy. Gov. in

प्रधानमंत्री महिला सामर्थ्य योजना का उद्देश्य

खास उद्देश्य यह है कि औरतों को कल्याण तथा सशक्तिकरण बनाना है।इस योजना के माध्यम से औरतों को रोजगार के प्रति उत्सुक किया जाएगा।सामर्थ्य योजना के माध्यम से औरतों द्वारा संचालित कीये जाने वाली उद्यमो का उत्थान किया जाएगा।

इस योजना के तहत औरतों को अलग-अलग तरह के प्रशिक्षण प्रदान किए जाएंगे जिससे कि वह अपने उद्योग को अच्छा बना सकें। और उनके जीवन स्तर में सुधार आ सकें। इस योजना के माध्यम से प्रदेश की औरतें अपने आप पर निर्भर बनेगी तथा औद्योगिक क्षेत्र का भी विकास होगा।

महिला सामर्थ्य योजना कार्यान्वयन

इस योजना के पहले चरण में 200 विकास खंडों में और सम्मान सुविधा केंद्र विकसित किए जाएंगे। इन केन्द्रो पर,प्रशिक्षण, सामान्य उत्पादन और प्रसंस्कणर, तकनीकी अनुसंधान और विकास पैकेजिंग, लेबलिंग, बारकोडिंग सुविधा जैसी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी। हर सुविधा केंद्र का 90% खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

इस योजना के तहत राज्य और जिले दोनों स्तरों पर दो स्तरीय कमेटी का गठन किया जाएगा। जिला स्तरीय समिति का गठन जिला मजिस्ट्रेट की अध्यक्षता में किया जाएगा। तथा राज्य में औरतों के लिए रोजगार को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य स्तरीय संचालन समिति के साथ जिला स्तरीय कमेटी को काम करना होगा। हर जिले में गठित समिति पात्र महिला समूह और संगठनों की पहचान करेगी और उनका मार्गदर्शन करेगी।

योजना के तहत राज्य की औरतों को बढ़ावा देने के लिए सामान्य जागरूकता, परामर्श कार्यक्रम, एक् सपोजर,सेमिनार,कार्यशाला और प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

उत्तर प्रदेश सामर्थ्य योजना के लाभ तथा विशेषताएं

. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा औरतों को सशक्तिकरण तथा कल्याण के लिए यूपी महिला सामर्थ्य योजना शुरू की गई है।
. इस योजना के माध्यम से प्रदेश की औरतों को रोजगार के प्रति उत्सुक किया जाएगा।
. उत्तर प्रदेश महिला समृद्धि योजना के तहत स्थानीय संसाधनों के आधार पर होम एंड काँडेज उद्योगों के माध्यम से औरतों के जीवन स्त्तर में सुधार लाने का कोशिश किया जाएगा।
. इस योजना के तहत औरतों को अपनी उपज को बेचने के लिए सरकार द्वारा बाजार उपलब्ध करवाया जाएगा।
. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यूपी महिला सामर्थ्य योजना के बजट को घोषणा करते हुए 22 फरवरी को शुरू किया गया है।
. यह योजना महिला सशक्तिकरण तथा कल्याण के लिए एक महत्वपूर्ण योजना साबित होगी।
. एक कमेटी जिला स्तर पर गठित की जाएगी तथा यह कमेटी राज्य स्तर पर गठित की जाएगी।
. इस योजना के माध्यम से औरतों द्वारा संचालित किए जाने वाले उद्यमों का उत्थान किया जाएगा।।
. उत्तर प्रदेश महिला सामर्थ्य योजना के पहले चरण में 200 विकास खंडो औरत सम्मान सुविधा केंद्र विकसित किए जाएंगे।
. इन केंद्रों पर अलग अलग प्रकार के प्रशिक्षण औरतों को दिया जाएगा।
. हर एक सुविधा केंद्र पर होने वाले 90 परसेंट खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

लाभ लेने वाले के लिए जरूरी जानकारी

. लाभ लेने वाले उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए।
. लाभ लेने वाली एक औरत होनी चाहिए।
. आधार कार्ड
. राशन कार्ड
. वोटर आईडी कार्ड
. बैंक खाता विवरण
. निवास प्रमाण पत्र
. पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
. मोबाइल नंबर

Share your love
Default image
Suman Kushwaha
Articles: 18

Newsletter Updates

Enter your email address below to subscribe to our newsletter

Leave a Reply